13 साल में भी नहीं मिली निर्माण की स्वीकृति

0
405

कलक्टर ने दिए जांच के आदेश

उदयपुर. कानोड़. नगर पालिका ने १३ साल बाद भी निर्माण की स्वीकृति नहीं दी तो मकान मालिक ने जिला कलक्टर को शिकायत की। जिला कलक्टर ने मामले की जांच आदेश दिए हैं।
अब इस बात की जांच होनी है कि शहरी क्षेत्र में बिना स्वीकृति जारी हुए आम आदमी किसी तरह का निर्माण नहीं कर सकता तो फिर 2007 में बिना स्वीकृति के निर्माण कैसे होता रहा।13 वर्ष पालिका प्रशासन क्यों मूकदर्शक बना रहा। नियमानुसार इस व्यक्ति के मकान व दुकानों को सीज की कार्यवाहीं की जानी चाहिए थी। मकान मालिक अब्दुल रज्जाक मकान निर्माण की स्वीकृति नहीं देने का जिम्मेदार नगर पालिका को बता रहा है।
नगर पालिका कानोड़ के सहायक अभियंता प्रभुलाल सुथार का कहना है कि अब्दुल रज्जाक ने नगर नियोजन विभाग द्वारा लगाई आपत्तियों का निस्तारण नहीं किया। पालिका द्वारा भेजे गए पत्र को लेने से मना कर दिया। इस पर पत्र डाक से भेजे गए व चस्पा करने पड़े। प्रार्थी के आवासीय मकान में व्यावसायिक गतिविधियां के संचालन की शिकायत पर पालिका द्वारा जवाब मांगा गया तो जवाब देने की बजाय वह पालिका को दोषी बता रहा है। नगर पालिका प्रशासन ने जिला कलक्टर को पूरा मामला पत्र के माध्यम से बताते हुए प्रार्थी द्वारा आवश्यक खानापूर्ति नहीं करने, पालिका द्वारा भेजे पत्र को लेने से मना करने व बिना स्वीकृति व व्यावसायिक भूपरिवर्तन करवाने, सरकारी आदेशों की अवहेलना करने पर कार्यवाहीं की मांग की है।





Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here