हैकर्स पुलिसकर्मियों को भी नहीं छोड़ रहे, आम आदमी की तो सुनवाई ही नहीं

0
250
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

hakersहैकर्स पुलिसकर्मियों को भी नहीं छोड़ रहे, आम आदमी की तो सुनवाई ही नहीं

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
गोगुन्दा थानाधिकारी मदनसिंह व भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष अधिवक्ता गजपाल सिंह का उचक्कों ने फेसबुक अकाउंट हैक कर उनके मित्रों से दुर्घटना होने की जानकारी देते हुए आर्थिक मदद मांगी। मित्रों ने जब अकाउंट होल्डर को फोन कर दुर्घटना के बारे में पूछताछ की तो पूरा खुलासा हो पाया। थानाधिकारी ने गोगुन्दा थाने में तथा गजपाल सिंह ने प्रतापनगर थाने में रिपोर्ट दर्ज करवाई। सीआई मदनसिंह ने बताया कि रविवार सुबह उचक्कों ने उनके फेसबुक अकाउंट को हैक कर दिया। कुछ देर बाद सीआई के मित्रों रिश्तेदारों को दुर्घटना का मैसेज देकर 10 से 15 हजार की आर्थिक मदद मांगी। सीआई ने बताया कि उनके जिन मित्रों व रिश्तेदार के पास मैसेज गया उन्होंने हाथोंहाथ फोन कर दुर्घटना के बारे में जानकारी ली तो अकाउंट हैक होने का खुलासा हुआ। सीआई ने बताया कि हैकर्स ने राशि बैंक खाते में डलवाने के लिए खाता नंबर और बैंक का आईएफसी कोड भी दिया। खाता नंबर के बारे में पता लगवाया तो वह जयपुर निवासी पवन मीणा का नाम सामने आया है। अभी इस बारे में तफ्तीश की जा रही है।
—-
अधिवक्ता से भी मांगें पैसे
भाजयुमो प्रदेश उपाध्यक्ष व अधिवक्ता गजपाल सिंह राठौड़ ने अपनी फेसबुक अकाउंट हैक होने की प्रतापनगर थाने में रिपोर्ट दी है। उन्होंने बताया कि अकाउंट हैक कर मैसेंजर के माध्यम से उचक्के ने दुर्घटना का हवाला देकर हितेश जोशी से 15 हजार की मांग की। शंका होने पर हितेश ने उसे फोन कर जानकारी मांगी तो पता चल पाया। गौरतलब है कि कुछ माह पहले भाजयुमो जिला उपाध्यक्ष दिलीप खटीक का खाता हैक कर रुपयों की मांग की गई थी। उन्होंने सलूम्बर थाने में मामला दर्ज करवाया था।

कई लोग नहीं पहुंचे थाने
पुलिस ने बताया कि इन अकाउंट के अलावा शहर में पिछले दिनों10 से 15 लोगों के इसी तरह से अकाउंट हैक आर्थिक मदद मांगी है। इनमें से कुछ लोग थाने पहुंचे तो कुछ ने रिपोर्ट नहीं दी। पुलिस अभी इस मामले में तफ्तीश में जुटी है। इधर, भाजयुमो जिलाध्यक्ष चंद्रशेखर जोशी ने प्रदेश उपाध्यक्ष गजपालसिंह का फेसबुक अकाउंट हैक होने के बाद सभी पदाधिकारियों व संगठन की आईटी सेल को निर्देश दिया कि वे जिन जिम्मेदार पदाधिकारियों ने दो से तीन आईडी फेस बुक एट्विटर आदि पर बना रखी है उनमें निष्क्रिय पड़े अकाउंट्स को तुरन्त डिएक्टिवेट करे।



Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here