सीता व महेश की मदद के लिए उठे हाथ

अब 18 वर्ष की आयु तक मिलेगी परिवार जैसी सुविधा

उदयपुर. फलासिया. राजस्थान पत्रिका ने 26 फरवरी को ‘दर दर की ठोकरें खा रही सीता, भटक रहा महेशÓ शीर्षक से फलासिया पंचायत समिति के आमलेटा गांव के दो अनाथ भाई ***** की खबर का प्रमुखता से प्रकाशन किया था। खबर के बाद सरकारी व गैर सरकारी संस्थान के कई लोग मदद को पहुंचे तो इन बच्चों व इनके रिश्तेदारों ने एक स्वर में कहा-धन्यवाद राजस्थान पत्रिका।
खबर प्रकाशन के बाद कोल्यारी के तीन अध्यापक प्रकाश टोकरिया, नरेश लोहार, लक्ष्मण मेघवाल बच्चों के घर पहुंचे और उन्हें कपड़े, जूते व राशन सामग्री सहित पुस्तकें देकर राहत देने का प्रयास किया। उसके बाद फलासिया विकास अधिकारी बृजलाल मीणा, ग्राम विकास अधिकारी व उपसंरपच दीपसिंह बच्चों के घर पहुंचे ओर उन्हें पालनहार योजना से जोडऩे के कागजात तैयार करवाए। झाड़ोल में काम कर रहे चाइल्ड लाइन के कार्यकर्ता, चेतना अरोग्य संस्थान के कार्यकर्ता हेमराज लोहार सीडब्ल्यूसी के अध्यक्ष ध्रुवकुमार चारण के साथ आमलेटा गांव पहुंचे जहां उन्होंने बच्चों को राजस्थान बाल कल्याण समिति के झाड़ोल स्थित बालिका व बालक गृह भेजा गया। यहां इन 6 व 8 साल के बच्चों को 18 वर्ष की आयु तक सरकार व संस्थान के सहयोग से खाना- पीना, रहना व पढाई नि:शुल्क करवाई जाएगी। वही इस बालक व बालिका गृह में 50 बालक व 50 बालिका पहले से होने के कारण इन बच्चों को परिवारिक माहौल भी मिलेगा ।

Patrika

Leave a Comment