सामने पैंथर को देख उड़ गए होश

गेहूं की फसल में छिपा था पैंथर
पैंथर के हमले से युवक घायल

उदयपुर. जावर मांइस. गिर्वा तहसील अन्तर्गत जावर पंचायत के कालाघाटा कानपुर क्षेत्र में दिन में पैंथर ने हमला कर युवक को घायल कर दिया। शनिवार शाम चार बजे गाविन्द (३०) पुत्र पांचा मीणा घर के नजदीक स्थित खेत पर गेहूं की फ सल को पानी पिलाने गया था। इस दौरान गेहूं की फ सल में छीपा पैंथर उस पर लपक गया। अचानक हुए पैंथर के हमले से गोविन्द घबरा गया। पैंथर के पंजे से छाती पर खरोच आई, जिसके कारण वह जमीन पर गिर गया। इतने में घर के अन्य सदस्य हो- हल्ला करने लगे, जिससे पैंथर खेत में खड़ी गेहूं की फ सल में छिप गया। सूचना पर वन नाका जावर से आए वन कर्मियों ने पटाखों की सहयता से पैंथर को मौके से भगाने का प्रयास किया। करीब एक घंटे तक पटाखे छोडऩे के बाद पैंथर
फ सल से निकल कर जंगल की ओर भाग गया। शनिवार रात्रि को डर से सहमा परिवार घर में सो रहा था। बाड़े में बंधी बकरी को पैंथर उठा ले गया। सरपंच प्रकाश चन्द्र मीणा व टीडी थाना अधीकारी विरेन्द्र सिंह रविवार को मौके पर पहुंचे व ग्रामीणों की व्यथा सुनी। उसके बाद उन्हें समूह में रहने के साथ ही हाथ में लट्ठ लेकर चलने की सलाह दी। साथ ही कहा कि रात्रि में घर से बाहर नहीं निकले। घायल गोविन्द का इलाज वन कर्मियों ने कराया।
गौरतलब है कि कानपुर काला घाटा क्षेत्र में एक माह पूर्व लक्ष्मी लाल के घर बंधी तीन बकरियों को पंैथर ने मारा था। उस समय वन विभाग ने पैंथर को पकडऩे के लिए पिंजरा लगाया, परन्तु एक माह गुजरने के बाद भी पैंथर पिंजरे में नहीं आया। वन विभाग ग्रामीणों के आक्रोश को देखते पैंथर को पकडऩे के लिए उनके द्वारा बताए गए स्थान पर पिंजरा लगाने की कार्रवाई कर रहा है।







Show More

Patrika

Leave a Comment