सप्ताहांत में सिनेमाघरों की कमाई को लगा वायरस, कोचिंग सेंटर खुले रहे

0
255
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

सरकार की एडवायजरी लेकसिटी में किसी ने मानी, किसी ने दिखाई बेफिक्री

उदयपुर. कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया डरी हुई है। सरकार ने एडवायजरी जारी करने के साथ ही राज्य में शनिवार से स्कूलों, कोचिंग सेंटर, जिम और सिनेमाघर बंद करने के आदेश दिए, मगर लेकसिटी में किसी ने इसकी पालना की, तो कोई इसे बेफिक्री में उड़ाता नजर आया। सिनेमाघरों में वीकेण्ड पर शो बंद रहने से फिल्म उद्योग को नुकसान झेलना पड़ रहा है। रविवार को भी शो बंद रहेंगे। इधर, जिन प्रशिक्षण संस्थानों को बंद रखने के सरकार ने आदेश दिए, वहां आने-जाने वालों ने मास्क तक नहीं पहन रखे थे। यही नहीं, सुखाडिय़ा विश्वविद्यालय परिसर में तो जिद के चलते एक सांस्कृतिक कार्यक्रम भी हुआ।

1. कोचिंग सेंटर : कोई फिक्र नहीं
शहर में दुर्गानर्सरी रोड, हिरणमगरी स्थित सेक्टर 3 व 4 और शहर के अन्य इलाकों, आवासीय क्षेत्रों में स्थित कोचिंग सेंटर्स धड़ल्ले से चलते रहे। विद्यार्थी बिना मास्क लगाए कक्षाओं में आते-जाते नजर आए। सरकार की चेतावनी को लेकर संचालकों में किसी तरह की कोई चिंता नहीं दिखाई दी। यह उन संस्थानों में हुआ, जिन पर पढ़े-लिखे युवाओं को जागरूक करने की जिम्मेदारी है। हालांकि रविवार को कोचिंग सेंटरों पर छुट्टी रहती है।

2. सिनेमाघर : बुकिंग कैंसल, पहुंचे तो गेट बंद मिले
शहर में मॉल में स्थित मल्टीप्लैक्स और बाहर स्थित सिनेमाघरों में वीकेंड पर सन्नाटा छा गया। सुबह से शाम तक एक भी शो नहीं चला। जो लोग फिल्म देखने पहुंचे उन्हें टिकट काउंटर बंद मिले, वहीं सिनेमा हॉल के गेट भी बंद थे। गफलत उन्हें हुई, जो ऑनलाइन बुकिंग करवाकर परिवार सहित फिल्म देखने चले गए। शो नहीं चलने से उन्हें लौटना पड़ा। हालांकि पीवीआर, आइनोक्स की ऑनलाइन बुकिंग अब भी चालू है, जिससे लोग गलतफहमी में बुकिंग करवा रहे हैं। कस्टमर केयर से पता चला कि ऑनलाइन बुकिंग का पैसा उनके खातों में सात-आठ दिन में वापस डाला जाएगा।

3. स्कूल-कॉलेजों : परीक्षाओं की हलचल, बाकी सन्नाटा
शिक्षण संस्थानों में भीड़-भाड़ कम नजर आई। सरकारी स्कूलों और कॉलेजों में विद्यार्थी केवल पर्चे देने आए। कुछ निजी विद्यालयों की ओर से अभिभावकों तक सूचना नहीं पहुंचने पर विद्यार्थियों, छोटे बच्चों को स्कूल भेज दिया गया। संचालकों को जानकारी मिलने के बाद किसी ने सबको घर भेज दिया, तो कहीं दोपहर तक पढ़ाई चली।

4. जिम के भी खुले रहे ताले
शहर में छोटे-बड़े करीब पांच दर्जन जिम और व्यायामशालाएं हैं, जहां शनिवार को लोग नियमित तौर पर एक्सरसाइज करने पहुंचे। सुबह और शाम दोनों पारियों में उनकी चहलकदमी रही। हालांकि संचालकों ने निजी साफ-सफाई और जिम के उपकरणों को बैक्टिरिया मुक्त रखने के इंतजाम किए, मगर सरकार के निर्देशों को लेकर उनमें कोई खास चिंताएं नहीं देखी गईं।

Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here