सखियां लाई सेवरा और पूजी गणगौर

छोटी गणगौर के मेले में दिखा उत्साह, विभिन्न समाजों की महिलाएं पहुंची समूह में

उदयपुर. गणगौर के मुख्य आयोजन से 10 दिन पहले छोटी गणगौर का आयोजन हुआ। विभिन्न समाजों की ओर से अपने स्तर पर हुए आयोजनों के साथ ही मोती चौहट्टा में छोटी गणगौर मेले का आयोजन किया गया। आयोजनों में शामिल हुए महिलाओं, युवतियों में खास उत्साह रहा। परंपरा के अनुसार बालिकाएं बाग बगीचों से फूलों के सेवरे सजाकर लाई और गणगौर का शृंगार किया।

छोटी गणगौर के दो दिवसीय मेले के दूसरे दिन अष्ठमी पर महिलाएं ईसर-पार्वती की प्रतिमाएं श्रद्धा के साथ घर ले गई। मोती चौहट्टा क्षेत्र में लगे इस मेले में शहर की कई महिलाएं समूह के रूप में पहुंची। मिट्टी की प्रतिमाओं को शुभ मुहूर्त में लिया गया। इसके साथ ही मेले में ही प्रतिमाओं का वस्त्र और आभूषण से शृंगार किया गया। विधि-विधान से पूजा-अर्चना के साथ नैवेद्य अर्पण किए। लोक गीत गाती प्रतिमाओं ने गणगौर को मान सम्मान के साथ घर लाया गया। मेले में शाम छह बजे तक कुछ महिलाएं ही गणगौर की प्रतिमाएं लेने पहुंची। इसके बाद कुछ देर के लिए रौनक दिखाई दी।

समाजों के आयोजन
छोटी गणगौर पर पूर्बिया समाज की महिलाओं की ओर से हाथीपोल स्थित समाज के नोहरे में ईसर-पार्वती गणगौर की प्रतिमा की प्रतिस्थापना की गई। पूजा अर्चना के साथ जल कुसुम्बे दिए गए। तरुणा पूर्बिया ने बताया कि महिलाओं ने पारम्परित वेशभूषा धारण कर ईसर-पार्वती की पूजा अर्चना की। गणगौर के गीत गाए गए। गणगौर नृत्य प्रस्तुत किए गए। महिला समिति अध्यक्ष अनिता पूर्बिया, कल्पना, साधना, कमला, पुष्पा, मनिला, हेमलता, कविता, मीना पूर्बिया की मौजूदगी रही।






Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here