वाह री पुलिस… थाने से पूरा का पूरा ट्रक डोडा चूरा करवा दिया पार

0
279
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

वाह री पुलिस… थाने से पूरा का पूरा ट्रक डोडा चूरा करवा दिया पार

मोहम्मद इलियास/उदयपुर
इसे पुलिसिया ‘करिश्मा’ कहें या ‘हेराफेरी का खेल’। गोगुन्दा थाने में 9 साल पहले पकड़े गए ट्रक से पूरा का पूरा डोडा चूरा गायब हो गया। चोरी हुआ यह माल कोई एक या दो कट्टा नहीं बल्कि पूरे 105 कट्टों में 2863 किग्रा था। इसका खुलासा हाल ही में न्यायालय की ओर से जब्त माल को अदालत में तलब करने के दौरान हुआ। थाने से माल चोरी का पता चलते ही न्यायालय ने एसपी को मामला दर्ज कर अनुसंधान के आदेश दिए। एसपी के आदेश पर गोगुन्दा थाने में धारा 409 में मामला दर्ज किया गया। इस मामले की जांच सीओ गिर्वा के सुपुर्द की गई है।
गोगुन्दा के तत्कालीन थानाधिकारी हनवंतङ्क्षसह ने 6 अक्टूबर, 2010 को जगलिया महुड़ी टोलनाके पर सुबह 11.15 बजे एचआर-55 ई- 1080 नम्बर के ट्रक से 105 बोरों में 2863 किग्रा डोडा चूरा बरामद किया था। पुलिस ने एनडीपीएस में मामला दर्ज कर ट्रक चालक रमेश व खलासी रमजान को गिरफ्तार किया था। पुलिस के अनुसार इस माल को ट्रक में ही तिरपाल ढंककर रखा गया था, जो बाद में गायब हो गया।

चालक व खलासी हुए थे गिरफ्तार
लंबित इस प्रकरण में 28 अगस्त, 2017 को न्यायालय ने जब्तशुदा माल पेश करने के आदेश दिए तो तत्कालीन थानाधिकारी भंवरलाल बिश्नोई ने माल नहीं होकर ट्रक खाली होना बताया। उसके बाद से प्रकरण में लगातार पेशियां चल रही थी। 30 जनवरी 2020 को न्यायालय ने एसपी को लिखते हुए प्रकरण में अनुसंधान कर एफआईआर दर्ज करने के आदेश दिए।
—-
मालखाना इंचार्ज ने दर्ज की रिपोर्टर्
प्रकरण में गोगुन्दा थाने के मालखाना इंचार्ज हैडकांस्टेबल गोवर्धनलाल ने रिपोर्ट दर्ज करवाई। इसमें बताया कि 25 अक्टूबर, 2019 को तत्कालीन मालखाना प्रभारी मंगेजाराम के साथ चार्ज लिस्ट से मालखाने के माल का भौतिक सत्यापन किया था। लिस्ट के मुताबिक समस्त प्रकरणों को माल चार्ज में लिया गया। प्रकरण संख्या 214/2010 धारा 8/15 एनडीपीएस में जब्तशुदा डोडा चूरा 105 बोरे कुल 2863 किलो ट्रक एचआर-55 ई- 1080 में गायब मिला। उसे इस उक्त प्रकरण के कंट्रोल सेम्पल व एफएसएस से बाद जांच सेम्पल चार्ज में नहीं संभालएं गए।

मादक पदार्थ की बरामदगी के संबंध में जांच एजेंसी द्वारा प्रकरण में जब्तशुदा माल व सेम्पल व कंट्रोल सेम्पल को प्राथमिक साक्ष्य के रूप में न्यायालय में पेश करना आज्ञापक है। जांच एजेन्सी द्वारा अभी यह माल पेश नहीं किया गया।
अविनाश बड़ाला, आरोपी के अधिवक्ता

तत्कालीन गोगुन्दा थानाधिकारी हनवंतसिंह ने बताया था कि डोडा चूरा पकडऩा बताया था। इस मामले में एसपी व एसएचओ को माल पेश करने के लिए कहा, लेकिन वे अब तक पेश नहीं कर पाए। जांच में पता लगा कि वह माल गायब हो गया था। इस पर न्यायालय ने एसपी को मुकदमा दर्ज करने के लिए लिखा है।
कपिल टोड़ावत, लोक अभियोजक, जिला एवं सेशन न्यायालय

कहते हैं एसपी
पुराना मामला है, न्यायालय के आदेश पर ध्यान में आते ही इस संबंध मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए है। सीओ गिर्वा को इसकी जांच सौंपी है।कैलाशचन्द्र बिश्नोई, पुलिस अधीक्षक



Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here