लेकसिटी की सडक़ों पर घूमते रहे इन सात देशों के पर्यटक, अब चेती सरकार, बताया मोडरेट रिस्क

सात देशों के यात्रियों को १४ दिन तक रखें अलग

– पत्रिका ने पहले ही चेताया था

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. जिन सात देशों के पर्यटक कई दिनों तक लेकसिटी की सडक़ों से लेकर शहर के चप्पे-चप्पे पर घूमते रहे सरकार अब इन पर्यटकों की राह रोकने की तैयारी में जुट गई है। सरकार ने अब इन देशों के पर्यटकों को मध्यम जोखिम वाले पर्यटक बताते हुए उन्हें इधर-उधर घूमने से रोकने व १४ दिन तक क्वारंटाइन यानी संक्रमण के संदेह पर अलग से रखने के निर्देश जारी किए हैं। पत्रिका के १६ मार्च के अंक में ‘१० हजार से अधिक विदेशी आए लेकसिटी’ शीर्षक से समाचार प्रकाशित कर हालात को उजागर किया था। इधर, डूंगरपुर जिले के सात बच्चे फिलिपिंस हवाई अड्डे पर फंसे हुए हैं।
——–

ये है वे सात देश

चीन, उत्तरी कोरिया, फ्रांस, जर्मनी, स्पेन, इटली व इरान से आ रहे पर्यटकों को केटेगरी बी (मोडरेट रिस्क) बताया गया है। इन यात्रियों को १४ दिन तक अलग रखने के आदेश दिए हैं।
—–

फिलहाल इतने हैं यहां

जिन देशों के पर्यटकों को घूमने से १४ दिन तक रोकने के सरकार ने आदेश जारी किए हैं, इनमें से शहर में पिछले एक पखवाडे़ में इन सातों देशों के ३५५१ यात्री लेकसिटी पहुंचे है। बताया जा रहा है कि इनमें से ज्यादातर यात्री उदयपुर की विभिन्न होटल्स में ठहरे हुए हैं।
—-

देश का नाम- उदयपुर पहुंचे यात्रियों की संख्या
चीन- ३०

उत्तरी कोरिया- ३१ (कोरिया व कोरिया रिपब्लिक के मिलाकर)
फ्रांस- १७९८

जर्मनी- ११९२
स्पेन- २७८

इटली-२११
इरान- ११

——
इसलिए निकाले आदेश

इन सात देशों में कोरोना का संक्रमण खूब फैला हुआ है। चीन के वुहान शहर से ही कोरोना की शुरुआत हुई है तो अन्य इन देशों में इसका खूब संक्रमण हुआ है। इसलिए उन्हें क्वारंटाइन में रखने के निर्देश हैं। क्वारंटाइन यानी संगरोध, छूतरोग से पीडि़त व्यक्तियों को अलग रखने का प्रबंध को कहा जाता है। राजस्थान पर्यटन निगम की प्रमुख शासन सचिव श्रेहा गुहा को अतिरिक्त मुख्य सचिव रोहितकुमार सिंह ने आदेश जारी किए है कि जरूरत पर पर्यटन निगम के होटल्स को इसके लिए उपलब्ध करवाया जाए।
—–

सीएमएचओ ने कहा कि हर होटल में भी एक कमरा हो
पर्यटन विभाग की उपनिदेशक शिखा सक्सेना ने इन विदेशियों को क्वारंटाइन करने के लिए अलग से व्यवस्था की जानकारी के बारे में सीएमएचओ डॉ. दिनेश खराड़ी से चर्चा की थी। खराड़ी ने कहा कि हर होटल में एक कमरा होना चाहिए, जहां इन पर्यटकों को अलग से १४ दिन तक रखा जा सके।

—-

ये है इन देशों की स्थिति : (अपडेट १६ मार्च)
देश- संक्रमित मरीज- नए मरीज- मौत – कुल नए मरीजों की मौत

चीन- ८१०७७-२९-३२१८- १४
इटली- २४७४७-३५९०-१८०९-३६८

फ्रांस- ५३८०-९११-१२७-३६
जर्मनी- ४८३८-१०४३-१२-०४

स्पेन- ५३८०-९११-१२७-३६
इरान- १४९९१-२२६२-८५३-२४५

इनका कहना है
हां इसे लेकर आदेश जारी किए हैं ताकि किसी प्रकार का कोई संक्रमण नहीं फैल सके।

डॉ दिनेश खराड़ी, सीएमएचओ उदयपुर

ये आदेश जारी किए गए हैं, ताकि सुरक्षा बनी रहे, प्रशासन इन यात्रियों को क्वारंटाइन करने के लिए भी व्यवस्थाएं कर रहा है।
शिखा सक्सेना, उपनिदेशक पर्यटन

बॉक्स………चिकित्सा विभाग ने इन जगहों को बनाया क्वारंटाइन स्थल
– आरएनटी मेडिकल कॉलेज

– सीएचसी भुवाणा
– जीएमसीएच मनवाखेड़ा

– पीएमसीएच भीलों का बेदला
– पीआईएमएस उमरड़ा

– एआईआईएमएस जीबीएच बेड़वास
इनमें वर्तमान में ११ कमरों में ८४ बिस्तर हैं, जिनमें अब तक ४२ पुरुष व ४२ महिलाएं हैं। दूसरी ओर १० लोगों को वेंटिलेटर्स पर रखा गया है।
—-
चिकित्सा विभाग ने इन जगहों को बनाया क्वारंटाइन स्थल

– आरएनटी मेडिकल कॉलेज

– सीएचसी भुवाणा

– जीएमसीएच मनवाखेड़ा

– पीएमसीएच भीलों का बेदला

– पीआईएमएस उमरड़ा

– एआईआईएमएस जीबीएच बेड़वास

इनमें वर्तमान में ११ कमरों में ८४ बिस्तर हैं, जिनमें अब तक ४२ पुरुष व ४२ महिलाएं हैं। दूसरी ओर १० लोगों को वेंटिलेटर्स पर रखा गया है।

Patrika

Leave a Comment