राजस्थान का पहला ‘पलाश महोत्सवÓ 21 को उदयपुर में

तैयारियों को लेकर पूर्व वन अधिकारियों की मौजूदगी में हुई बैठक

उदयपुर. संभाग में पर्यावरण संरक्षण व संवर्धन गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए नवसृजित ‘ग्रीन पीपल सोसायटीÓ के तत्वावधान में वन विभाग और डब्ल्यू.डब्ल्यू.एफ-इंडिया के सहयोग से राजस्थान के पहले ‘पलाश महोत्सवÓ का आयोजन 21 मार्च को होगा। शुक्रवार को ग्रीन पीपल सोसायटी और संबद्ध अधिकारियों की बैठक में समन्वय के साथ तैयारियां करने का आह्वान किया गया। अध्यक्ष व सेवानिवृत्त मुख्य वन संरक्षक (वन्यजीव) राहुल भटनागर ने बताया कि महोत्सव शहर से 15 किमी दूर अहमदाबाद मार्ग स्थित ग्राम पंचायत देवाली ग्रामीण के किटोड़ा (दईमाता) गांव स्थित पलाश कुंज में किया जाएगा। संभागभर से पर्यावरणप्रेमियों को आमंत्रित किया जा रहा है। शहर व ग्रामीण क्षेत्र के विद्यालयों व महाविद्याालयों से एक हजार बच्चों की सहभागिता रहेगी। सेवानिवृत्त सहायक वन संरक्षक डॉ. सतीश शर्मा ने पलाश की सांस्कृतिक व आयुर्वेदिक उपयोगिता पर आधारित वार्ताओंं के आयोजन के साथ गर्मियों में पुष्पित होने वाले फूलों पर आधारित प्रदर्शनी के आयोजन का सुझाव दिया। भटनागर ने बताया कि महोत्सव के दौरान भारतीय संस्कृति के बहुत ही उपयोगी व सुंदर वृक्ष पलाश के संरक्षण व संवर्धन के प्रति जागरूकता पैदा करने चित्रकला व क्विज प्रतियोगिता होगी। फोटो प्रदर्शनी भी लगेगी तथा विजेताओं को पुरस्कृत किया जाएगा। बैठक में सेवानिवृत्त उप वन संरक्षक प्रतापसिंह चुण्डावत व सोहेल मजबूर, सेवानिवृत्त संयुक्त निदेशक पन्नालाल मेघवाल, सेवानिवृत्त सहायक निदेशक रवि गोस्वामी, जनसंपर्क उपनिदेशक डॉ. कमलेश शर्मा, पक्षीविद् विनय दवे, सहायक लेखाधिकारी दिनकर खमेसरा, डब्ल्यूडब्ल्यूएफ के संभागीय प्रभारी अरूण सोनी और अन्य पर्यावरणप्रेमियों ने विचार व्यक्त किए।

Patrika

Leave a Comment