यदि कोरोना के मरीज बढ़ गए तो भुवाणा सीएचसी बनेगा पेशेन्ट कैंप

0
311
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

. मेडिकल कॉलेज से लेकर चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. मेडिकल कॉलेज से लेकर चिकित्सा विभाग के अधिकारियों को वीडियो कान्फ्रेंसिंग के जरिए बुधवार को जयपुर मुख्यालय से यह चेताया गया है कि वह ऐसी जगह का चयन कर तैयारी रखे जहां बड़ी संख्या में जरूरत पर मरीजों को रखा जा सके। इसे लेकर चिकित्सा विभाग ने भुवाणा सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र का चयन किया है, इसमें करीब 100 पलंग रखवाए जाएंगे और विशेष टीम भी हमेशा तैयार रहेगी। यहां पेशेन्ट कैंप बनाया जाएगा, ताकि हर स्थिति से निपटा जा सके।

—-

ये दिए निर्देश

– वीसी में कहा है कि चीन, इटली, जापान, कोरिया, जर्मनी, दुबई और इरान से जो पर्यटक आ रहे है उन पर विशेष नजर रखी जाए।

– यहां पहुंचते ही पहले उनके स्वास्थ्य की स्क्रीनिंग की जाएगी, आते ही स्वास्थ्य परीक्षण किया जाएगा। बीमारी हो तो तत्काल जांच होगी, बीमारी नहीं होने पर उन्हें एहतियात रखनी होगी, हर तीन दिन में फिजिशियन उनकी जांच करेंगे, रेस्टोरेंट, शॉपिंग, सेंटर और जहां-जहां वे जाते हैं, उन पर पूरी नजर रहेगी। यदि कोई भी पॉजिटिव आता है तो वहां पर किस किस स्टाफ से मिले, कहां कहां कौनसी सुविधाओं का उपयोग किया उसकी पूरी रिपोर्ट तैयार की जाएगी।

– यदि कोई मरीज कोरोना का पॉजिटिव पाया जाता है, तो उसके घर या उस स्थान के तीन किलोमीटर तक के घेरे में जांच की जाएगी। सभी जगह हायपोक्लोराइड सोल्यूशन का छिड़काव किया जाएगा।
—–
जयपुर से वीडियो कान्फ्रेंस लेने वाले में एसीएस रोहितकुमार सिंह, एमडी डॉ नरेश ठकराल, निदेशक डॉ केके शर्मा व अतिरिक्त निदेशक डॉ रविप्रकाश शर्मा ने निर्देश दिए। उदयपुर से वीसी में आरएनटी प्राचार्य डॉ लाखन पोसवाल, एमबी अधीक्षक डॉ आरएल सुमन, सीएचएचओ डॉ दिनेश खराड़ी, डिप्टी डॉ

Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here