महराजगंजः ट्रेन का इंतजार कर रही युवती से गैंगरेप, रातभर पड़ी रही बेहोश

0
491
  • रातभर स्टेशन के पास बेहोश पड़ी रही युवती
  • चार दिन तक बेसुध की हालत में रही पीड़िता
  • माना जा रहा कि आधा दर्जन लोगों ने रेप किया

महराजगंज के सिसवा बाजार रेलवे स्टेशन पर ट्रेन का इंतजार कर रही युवती को नशीला पदार्थ खिलाकर तीन युवकों ने बारी-बारी से गैंगरेप किया. कहा जा रहा है कि इसमें आधा दर्जन लोग भी शामिल हो सकते हैं, जबकि पुलिस इसे प्रेम-प्रसंग का मामला मान रही है.

रेप की यह घटना 20 फरवरी की है. कोठीभार थाना क्षेत्र के एक गांव की रहने वाली पीड़िता को उसके पिता सिसवा बाजार रेलवे स्टेशन पर छोड़कर घर चले गए और पीड़िता पिपराइच अपने मामा के घर जाने के लिए ट्रेन का इंतजार कर रही थी.

आरोप है कि तभी वहां अवैध वेंडर का काम करने वाले तीन युवक पहुंचे और पीड़िता को बहला फुसलाकर नशीला पदार्थ खिला दिया और सुनसान जगह ले जाकर सामूहिक दुष्कर्म किया.

रातभर बेहोश पड़ी रही युवती

गैंगरेप के बाद आरोपी युवती को सुनसान जगह पर छोड़ कर फरार हो गए. युवती रातभर रेलवे स्टेशन के पास बेहोश पड़ी रही. सुबह जब लोगों की नजर पड़ी तो इसकी सूचना युवती के परिजनों को दी गई. पिता युवती को लेकर घर चले गए.

घटना के 4 दिन बाद पीड़िता अपने पिता के साथ कोठीभार थाने पर पहुंची. पिता ने तहरीर दी, जिसके आधार पर कोठीभार पुलिस ने तीनों आरोपियों के खिलाफ गैंगरेप की धारा 376 डी के तहत केस दर्ज कर लिया. पुलिस ने 3 में से 2 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है और एक आरोपी की तलाश जारी है.

4 दिन बाद होश में आई पीड़िता

वारदात के 4 दिन बाद थाने पहुंची पीड़िता ने पुलिस को बताया कि घटना वाली रात 3 युवकों ने पहले उसे बहला-फुसला कर बिस्कुट खिलाया और फिर चाय पिलाई. चाय पीने के बाद उस पर बेहोशी हावी होने लगी.

पीड़िता ने बताया कि जब वह बेहोश हो गई तो तीनों युवक उसे रेलवे स्टेशन से उठाकर एक सुनसान जगह पर ले गए और बारी-बारी उसके साथ पूरी रात दुष्कर्म किया.

अगले दिन भोर में उसे होश आया तो घटनास्थल पर पहुंचे लोगों ने उसके पिता को बुलाया. पिता उसे घर लेकर चले गए. घर पहुंचते ही वो फिर बेहोश हो गई. घर पर ही उसका इलाज चलता रहा.

पूरे 4 दिन बाद सोमवार की सुबह उसे फिर से होश आया. तब वह पिता के साथ कोठीभार थाने में पहुंची और तहरीर देकर पुलिस को आप बीती बताई.

पीड़िता के पिता की तहरीर पर सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज करने के बाद पुलिस मामले की विवेचना में जुट गई है. संभावना जताई जा रही है कि पुलिस की जांच आगे बढ़ी तो सामूहिक दुष्कर्म में और भी कई चेहरे बेनकाब हो सकते हैं क्योंकि घटना के दिन रेलवे स्टेशन के पास इस बात की चर्चा जोरों पर रही कि युवती के साथ आधा दर्जन से ऊपर की संख्या में दरिंदों ने दुष्कर्म किया है.

इसी आधार पर पुलिस ने 2 आरोपियों के साथ एक और युवक को भी पूछताछ के लिए हिरासत में लिया है. पुलिस की सही दिशा में जांच और पीड़िता का 164 में बयान के बाद कुछ और चेहरे सामने आ सकते हैं.

ट्रेनों में अवैध वेंडर का काम करते हैं आरोपी

पुलिस ने तहरीर के आधार पर रामसनेही उर्फ सनेही निवासी खेसरारी मंगल छपरा, भुअर उर्फ अनिल खरवार निवासी बीजापार और लाला उर्फ राहुल श्रीवास्तव निवासी तुरकही थाना हनुमानगंज-कुशीनगर के विरुद्ध नामजद सामूहिक दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है. दो आरोपियों को हिरासत में भी ले लिया गया है. एक आरोपी अभी भी फरार है.

माना जा रहा है कि रेलवे पुलिस की मिलीभगत से ट्रेनों में खान-पान की चीजें बेचने वाले अवैध वेंडरों ने इस घटना को अंजाम दिया है. रेलवे पुलिस अपना काम अगर सही से किया होता तो ऐसे लोग अपने मंसूबों में कामयाब नहीं होते.

इसे भी पढ़ें— गोरखपुरः कफील खान के मामा की हत्या, प्रॉपर्टी विवाद में मारी गोली

प्रेम प्रसंग का मामलाः पुलिस

युवती के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म की इस घटना में पुलिस अलग ही कहानी गढ़ रही है. पुलिस इस घटना को प्रेम प्रपंच से जोड़ रही है.

इसे भी पढ़ें— प्रेम विवाह से गुस्साए युवती के रिश्तेदारों ने की युवक की पिटाई, फिर रेप के आरोप में गया जेल

अपरपुलिस अधीक्षक आशुतोष शुक्ला ने बताया कि लड़की अपने जानने वाले एक युवक जो सिसवा रेलवे स्टेशन पर वेंडर का काम करता है उसके बुलाने पर रेलवे स्टेशन गई थी, जहां लड़की के दोस्त के साथ उसके 2 अन्य साथियों ने साथ मिलकर युवती के साथ सामूहिक दुष्कर्म किया.

AajTak

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here