भीलवाड़ा अस्पताल में बहन से मिलकर आई शिक्षिका को आइसोलेनशन में भेजा!

0
462

एक दिन स्कूल में ड्यूटी भी की, प्रशासन के निर्देशों को नकारा

उदयपुर. भीलवाड़ा के जिस अस्पताल में कोरोनाग्रस्त और संदिग्ध मरीजों को रखा गया, उस वहां भर्ती अपनी बहन से मिलकर आईं उदयपुर की एक शिक्षिका को सेल्फ आइसोलेशन में जाने को कहा गया है। जिला प्रशासन ने उनकी स्क्रीनिंग करवाई है और चिकित्सक उनकी सेहत पर नजर रख रहे हैं। शिक्षिका ने उन्हें आइसोलेनशन में रहने जैसे कोई निर्देश नहीं मिलने की बात कही है।
उदयपुर के चेटक स्थित एक सरकारी बालिका स्कूल की शिक्षिका दो दिन तक भीलवाड़ा के एक निजी अस्पताल में अपनी बहन से मिलकर शुक्रवार को ड्यूटी पर लौटीं। यहां आने के बाद जैसे ही भीलवाड़ा में चिकित्सक और कुछ अन्य लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई, सशंकित शिक्षिका ने स्कूल की प्राचार्य रंजना मिश्रा को इसकी जानकारी दी। उन्होंने इस मामले से तुरंत अतिरिक्त जिला कलक्टर को अवगत करवाया। तीन चिकित्सकों ने उनकी स्क्रीनिंग की और घर पर रहकर सेहत का ध्यान रखने के निर्देश दिए। शिक्षिका का स्वास्थ्य ठीक है। पत्रिका से बातचीत में शिक्षिका ने इस बात से इनकार किया कि उन्हें होम आइसोलेशन में रहने को लेकर कोई निर्देश नहीं दिए गए हैं।

यह मामला आया था। चिकित्सकों को ऐहतियाती उपाय करने के लिए निर्देशित कर दिया था।
ओपी बुनकर, अतिरिक्त जिला कलक्टर (सिटी)

Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here