भारत युवाओं के कौशल के दम पर दुनिया का नेतृत्व करेगा- ओम बिरला

लोकसभा अध्यक्ष ने उदयपुर सम्भाग में आयोजित कई कार्यक्रमों में लिया हिस्सा, सागवाड़ा में 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में दी आहुतियां

उदयपुर. लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि भारत पूरी दुनिया का नेतृत्व नौजवानों की शक्ति के दम पर करेगा। युवाओं के बौद्धिक ज्ञान, तकनीकी क्षमता और कौशल के कारण आने वाले समय में दुनिया में हमारे देश का नाम होगा।
बिरला ने उदयपुर, सलूम्बर और डूंगरपुर जिले के सागवाड़ा में आयोजित विभिन्न कार्यक्रमों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत 2025 तक ही पांच ट्रिलियन डॉलर की अर्थव्यवस्था बन जाएगा। यह सपना भारत के हर व्यक्ति के योगदान से सफल होगा। किसान, युवा, महिलाएं, उद्यमी, इंजीनियर और हर वर्ग को अपनी भूमिका निभानी होगी। लोकसभा अध्यक्ष ने कहा कि हमारी आर्थिक स्थिति पहले से ज्यादा मजबूत हुई है। पड़ोसियों को हमने ताकत दिखाई, इससे आतंकवाद की कमर टूटी।
उन्होंने उदयपुर के आलोक संस्थान में आचार्य श्यामलाल कुमावत के प्रतिमा अनावरण समारोह में कहा कि आज उच्च शिक्षा में हम 25 प्रतिशत हैं। भारत को और आगे ले जाने का हमारा संकल्प है। हम हमारी बौद्धिक क्षमता के कारण भी नेतृत्व करेंगे। इतने बड़े देश में, जहां अलग-अलग जाति-धर्म, बोली, वेशभूषा की विविधताओं में भी सम्पूर्ण भारत एक है। इसकी अखण्डता जिन्दा है, यही हमारी शक्ति और सामथ्र्य है।
– हमारे लोकतंत्र की जड़ें मजबूत
बिरला ने कहा कि हमारी लोकतंत्र की जड़ें इतनी मजबूत है कि भारत समाज में हर स्तर पर आगे बढ़ रहा है। जब से चुनाव होने लगे, बढ़ता हुआ मतदान प्रतिशत लोकतंत्र में हमारी आस्था को दर्शाता है। जिस देश में लोकतंत्र सफल होता है, वहां समावेशी विकास होता है। सरकारी इसी दिशा में काम कर रही है। चूंकि यह एक आदिवासी इलाका है। सरकार की यही सोच है कि पिछड़ा हुआ हर गांव-ढाणी विकास में पीछे रह गया, उसे अग्रिम पंक्ति में कैसे खड़ा कर सकें। भारत के पूरब-पश्चिम, उत्तर-दक्षिण हर इलाके में समान विकास हो सके।
आदिवासियों को संसद घूमने आने का न्योता
लोकसभा अध्यक्ष ने सागवाड़ा और सलूम्बर में आम लोगों, आदिवासीजन को संसद की कार्यवाही देखने दिल्ली आने का न्योता दिया। इसके लिए उदयपुर के सांसद अर्जुनलाल मीणा और बांसवाड़ा के कनकमल कटारा को जिम्मेदारी भी दी। लोकसभा अध्यक्ष ने छात्रों, युवाओं से भी दिल्ली आने का अनुरोध किया।
– मूर्ति अनावरण, शिलान्यास और यज्ञ में आहुतियां
बिरला ने सुबह उदयपुर में हिरणमगरी सेक्टर-11 स्थित आलोक संस्थान में संस्थापक आचार्य श्यामलाल कुमावत की मूर्ति का अनावरण किया। इसके बाद वह सागवाड़ा गए, जहां गायत्री शक्तिपीठ पर आयोजित 108 कुण्डीय गायत्री महायज्ञ में आहुतियां दी तथा समारोह को सम्बोधित किया। यहां उन्होंने पांच करोड़ रुपए की लागत से प्रस्तावित 200 कमरों के पं. श्रीराम शर्मा आचार्य गुरुकुलम् भवन की आधारशिला रखी। फिर बिरला सागवाड़ा के ही बरबोदनिया गांव पहुंचे, जहां सामुदायिक भवन का शिलान्यास किया। सलूम्बर में मीनाक्षी कॉलेज में विद्यार्थियों, ग्रामीणों और भाजपा कार्यकर्ताओं ने भी उनका स्वागत किया। दिनभर के व्यस्ततम दौरे के बाद लोकसभा वह जिले के भीण्डर में फुटबॉल प्रतियोगिता के समापन समारोह में पहुंचे। इसके बाद चित्तौडग़ढ़ के लिए रवाना हुए।

Patrika

Leave a Comment