भारत में तेजी से बढ़ रहा कोरोना वायरस, मरीजों की संख्या 50 के पार

0
461
  • देश में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की संख्या में इजाफा
  • पुणे में कोरोना वायरस से संक्रमित पांच मामलों की हुई पुष्टि

भारत में कोरोना वायरस तेजी से पैर पसार रहा है. देश में संक्रमित मामलों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है और अब संक्रमित मामलों का आंकड़ा 50 के पार पहुंच गया है. पुणे में कोरोना वायरस के पांच केस पॉजिटिव पाए गए हैं. पुणे में कोरोना वायरस कोविड-19 के दो मरीजो के संपर्क में आने के बाद 3 और लोगों में लक्षण पाए गए हैं. नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरोलॉजी ने इस बात की पुष्टि की है.

बताया जा रहा है कि दुबई से भारत लौटे पुणे के पति-पत्नी को कोरोना वायरस होने की पुष्टि बाद इन दोनों के संपर्क में आए 3 लोगों को भी नायडू अस्पताल में भर्ती कराया गया था. पुणे में अब तक 5 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं, जबकि 19 संदिग्धों की जांच जारी है. इसके अलावा केरल में भी दो और नए मामलों की पुष्टि हुई है. केरल में कोरोना वायरस से संक्रमित अब तक 14 केस कंफर्म हो चुके हैं.

ये भी पढ़ें- उत्तर से दक्षिण भारत तक फैला कोरोना वायरस, अब कर्नाटक में 3 नए केस

कर्नाटक में मंगलवार को कोविड 19 यानी कोरोना वायरस के तीन नए मामले सामने आए हैं. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बी श्रीरामुलु ने इन मामलों की पुष्टि करते हुए यह जानकारी दी. भारत में कोरोना के मामलों की संख्या बढ़कर 52 पहुंच गई है.

ईरान से स्वदेश लाए गए 58 भारतीय

ईरान में कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते मंगलवार को 58 भारतीयों को सुरक्षित स्वदेश वापस लाया गया है. भारत सरकार ने भारतीय वायुसेना के विशेष विमान से भारतीय नागरिकों को कोविड-19 संक्रमण की चपेट में घिरे ईरान से बाहर निकाला है.

यहां पढ़ें कोरोना वायरस की पूरी अपडेट, कहां कितने मरीज

कोरोना से अहतियात, भगवान नरसिंह शोभा यात्रा में शामिल हुए योगी

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप की वजह से उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ इस बार भगवान नरसिंह की शोभा यात्रा में शामिल नहीं हो पाए. 24 साल बाद यह पहला अवसर है, जब योगी इस शोभा यात्रा का हिस्सा नहीं बन पाए. भगवान नरसिंह की शोभायात्रा मंगलवार सुबह निकाली गई. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) की ओर से निकाली जाने वाली इस शोभा यात्रा में योगी 1996 से शामिल होते रहे हैं. मुख्यमंत्री बनने के बाद व्यस्तता के बावजूद योगी ये परंपरा निभाते रहे लेकिन, इस बार वह शोभायात्रा में शामिल नहीं हुए.

मुख्यमंत्री योगी का कहना है कि सामूहिक आयोजनों में हिस्सा न लेने का फैसला कोरोना वायरस संक्रमण को देखते हुए जनहित में लिया गया है. उन्होंने लोगों से संक्रमण से बचाव को लेकर सजग रहने की अपील की है. बता दें कि दिल्ली, पंजाब, जम्मू-कश्मीर, केरल, पुणे समेत भारत के कई शहरों में कोरोना वायरस के संक्रमित मरीज पाए गए हैं, जिन्हें आइसोलेशन वार्ड में रखा गया है.

AajTak

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here