देश में बने सिंधु दर्शन तीर्थ

0
428

सिन्धु सभा प्रदेश कार्यकारिणी बैठक, उदयपुर के समाजजन भी हुए शामिल

उदयपुर . सिन्धु सभा प्रदेश कार्यकारिणी की बैठक भीलवाड़ा में हुई। उदयपुर से भी समजजनों की भागीदारी रही। हरीशेवा धाम के महामण्डलेश्वर हंसराम ने सिन्धु सभा की प्रदेश कार्यसमिति की बैठक में मांग उठाई कि सिंधी समाज का सिंध प्रदेश से बिछडऩे के बाद भारत में सिंधु दर्शन तीर्थ स्थल बनाने की जरुरत है।

बैठक में सामाजिक बुराईयां मिटाने, सनातन संस्कारों को हर घर परिवार में पुन: स्थापित करने, सामूहिक सत्यनारायण कथा का आयोजन करने सहित कुछ सामाजिक व्यवस्था के प्रस्ताव पास किए गए। सिन्ध से आए नागरिकों को सहयोग करने के लिए स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराए जाने पर भी मंथन किया गया। केंद्र सरकार से मांग की गई कि विशाल सिन्धु तीर्थ स्थान का निर्माण कराया जाए, जिसमें सनातन धर्म केन्द्र, गुरुकुल व्यवस्था हो। राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष लधाराम नागवाणी ने देश में सीएए की शुरुआत पर केंद्र सरकार का आभार जताया। प्रदेशाध्यक्ष मोहनलाल वाधवाणी, उदयपुर ईकाई अध्यक्ष नानकराम कस्तूरी, सुरेश कटारिया, मनोहर कालरा ने भी विचार व्यक्त किए। उदयपुर से विजय आहुजा, हरीश चावला, मोहिनी साधवानी, रमा खियानी, उर्मिल नन्दवानी, मीना गजसिंगानी की भागीदारी रही। संचालन प्रदेश महामंत्री महेन्द्र कुमार तीर्थाणी ने किया।





Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here