देर शाम पहुंचे जर्मनी के 22 पर्यटक लौटाएं

0
286
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

तत्काल प्रभाव से नई दिल्ली स्थित इटली के दूतावास में संपर्क

भुवनेश पंड्या
उदयपुर. कोरोना का डर अब हावी होने लगा है, चिकित्सा महकमा अब सतर्कता बरतने लगा है। बुधवार देर शाम जोधपुर से उदयपुर पहुंचे जर्मनी के 22 पर्यटकों के दल को उदयपुर में पहुंचने के कुछ देर बाद ही लौटा दिया गया। जानकारी के अनुसार जर्मनी के 22 ट्यूरिस्ट कुछ दिनों पहले बीकानेर के उसी होटल में 29 फरवरी को ठहरे थे, जिस होटल में 22 और 23 को इटली के पर्यटक ठहरे थे। ये वहीं पर्यटक है, जिनमें से अधिकांश को जयपुर में कोरोना का संदिग्ध मान जांच की जा रही है। जर्मनी के ये पर्यटक बीकानेर से जैसलमेर, जैसलमेर से जोधपुर से यहां आ गए थे। जैसे ही उनके उदयपुर पहुंचने की जानकारी मिली तो सीएमएचओ डॉ दिनेश खराड़ी ने एसीएच को इसकी जानकारी दी। इस पर एसीएच से चर्चा के बाद जिला कलक्टर आनन्दी को भी इसकी जानकारी दी गई। इस पर आनन्दी ने उन्हें यहां होटल में रुकने में एतराज जताया। सहां पर होटल बम्बुसा में इन जर्मनी के पर्यटकों की बुकिंग थी।

—–

इटली के पर्यटकों को तुरंत दूतावास से संपर्क के निर्देश केंद्र सरकार के सुझाव पर राज्य सरकार द्वारा लिए गए निर्णय अनुसार इटली के समस्त पर्यटकों को तत्काल प्रभाव से दिल्ली स्थित इटली के दूतावास से संपर्क करने के निर्देश दिए गए हैं। जिला कलेक्टर आनंदी ने बताया कि कोरोना वायरस से ग्रसित होने की संभावनाओं को देखते हुए राज्य सरकार द्वारा लिए गए निर्णय की अनुपालना में जिले में जितने भी इटली के पर्यटक प्रवासरत हैं वे तत्काल प्रभाव से नई दिल्ली स्थित इटली के दूतावास में संपर्क करें। इटली के पर्यटकों को संपर्क के लिए एक नम्बर जारी किया गया है और कहा है कि वे इटली के दूतावास के डिप्टी चीफ डे मिशन पेट्रो सेफ रा करीनी के मोबाइल नंबर ़919319236118 पर संपर्क करें और उनके निर्देशानुसार आगे की कार्यवाही करें। जिला कलेक्टर ने जिले के समस्त होटल प्रबंधकों को भी निर्देशित किया है कि वे अपने होटल में रह रहे इटली के समस्त पर्यटकों को इस संबंध में सूचित करते हुए दिए गए नम्बर पर सम्पर्क सुनिश्चित करावें।
—-
आरएनटी मेडिकल कॉलेज से तैयार की विशेष टीम: ये टीम चिकित्सा विभाग के संयुक्त निदेशक डॉ जेड ए काजी, सीएमएचओ डॉ दिनेश खराड़ी के साथ लगकर सभी स्थलों का दौरा करने, वहां से नमूने लेने, सर्विलेंस, चिकित्सकीय परीक्षण करने, लाइन लिस्टिंग का कार्य करेंगे।

– डॉ अंशु शर्मा, विभागाध्यक्ष माइक्रोबोयालॉजी

– डॉ गजानन्द मित्तल, सहायक प्राध्यापक माइक्रोबायालॉजी

– डॉ सत्यनारायण वैष्णव एपीडेमोलॉजिस्ट

—–

ट्राइडेंट होटल में जांच के लिए ये पहुंचा रेपिड एक्शन दल: स्टाफ व सम्पर्क में आने वाले व्यक्तियों की सर्विलेंस

– डॉ राघवेन्द्र राय, डिप्टी सीएमएओ

– डॉ कीर्तिसिंह, पीएमएम नोडल अधिकारी

– डॉ सीपी शर्मा, सहायक प्राध्यापक पीएसएम

– डॉ जितेन्द्र बजांरा, एसएमओ

– डॉ सत्यनारायण वैष्णव, एपीडिमेलॉजिस्ट

– दिनेशकुमार रेगर, मेल नर्स

—-

संदिग्ध के संपर्क में आने वाले व्यक्तियों का चिकित्सकीय परीक्षण, आइसोलेशन, हॉस्पिटल में भर्ती करवाने से लेकर सैम्पलिंग के लिए लगाया दल:

– डॉ गुरदीप कोर, वरिष्ठ प्राध्यापक मेडिसिन विभाग

– डॉ विवेक अरोड़ा, शिशु रोग विभाग

– डॉ बलदेव मीणा, सहायक प्राध्यापक, मेडिसिन विभाग

– डॉ दिलीप यादव, मेल नर्स

– डॉ प्रशान्त महात्मा, मेल नर्स

—–

इनके दल भेजे पर्यटन स्थलों पर: जहां-जहां इटली के पर्यटक घूमे वहां के लिए चिकित्सकों के दल को भेजा गया। हालांकि विभाग में ये भी चर्चा रही कि इनमें से टीमों ने समय पर वहां पहुंचकर विभाग को रिपोर्ट नहीं दी।

– डॉ ओपी मीणा- सहेलियो की बाड़ी इनके साथ पर्यवेक्षण अधिकारी श्रवणसिंह चौहान

– डॉ बलदेव मीणा- जीबीएच अमेरीकन हॉस्पिटल, पर्यवेक्षण अधिकारी केदारप्रसाद वैष्णव

– डॉ चिराग त्रिवेदी- एकलिंगजी मंदिर व सास बहु मंदिर कैलाशपुरी, पर्यवेक्षण अधिकारी नरेन्द्र कुमार ओदिच्य

—-

Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here