डूंगरपुर मेडिकल कॉलेज के एमसीआई निरीक्षण में देरी से पहुंचे उदयपुर आरएनटी के डॉक्टर

0
485

– सरकार ने किए थे एक दिन पहले आदेश

– उच्चाधिकारियों ने जताई नाराजगी

भुवनेश पंड्या

उदयपुर. डूंगरपुर स्थित मेडिकल कॉलेज यानी आयुर्विज्ञान महाविद्यालय में बुधवार को होने वाले एक्सटेंशन के लिए होने वाले एमसीआई निरीक्षण के लिए सरकार ने एक दिन पहले मंगलवार को आरएनटी मेडिकल कॉलेज उदयपुर से 11 चिकित्सकों को पदस्थापित किया था, लेकिन ये सभी चिकित्सक तय समय से कई घंटों बाद पहुंचे। ऐसे में वे हैड काउंटिंग में शामिल नहीं हो सके , बताया जा रहा है कि इन चिकित्सकों को समय पर सूचना नहीं दी गई थी। इसे लेकर उच्चाधिकारियों ने आरएनटी प्राचार्य पर नाराजगी भी जताई, हालांकि प्राचार्य इससे साफ मुकर गए। —-ये है नियम: नया कॉलेज खुला है, ऐसे में जब भी नए बैच आते हैं, इससे पहले एक्सटेंशन के लिए व्यवस्थाएं देखने एमसीआई का निरीक्षण किया जाता है।

—-

राजस्थान सरकार चिकित्सा शिक्षा ग्रुप एक के आदेश शिवशंकर अग्रवाल, सहायक शासन सचिव ने 25 फरवरी को 11 डॉक्टरों को डूंगरपुर भेजने के आदेश दिए थे, इसमें डॉ श्वेता अस्थाना, डॉ श्वेता बियानी, डॉ नमिता गोयल, डॉ सुशील साहू, डॉ विवेक अरोड़ा, डॉ एके ओझा, डॉ सुनीता माहेश्वरी, डॉ हेमराज, डॉ संदीप शर्मा, डॉ नरेन्द्रसिंह, डॉ हेमन्त महुर को लगाया गया था। इन चिकित्सकों को डूंगरपुर सुबह 11 बजे पहले पहुंचना था, लेकिन ये चिकित्सक डूंगरपुर में हेड काउंटिंग के बाद करीब ढाई बजे पहुंचे।

—-

एक चिकित्सक ने फोन पर बताया कि उन्हें तो जब आदेश दिए गए तब वे यहां से करीब 12.30 बजे डूंगरपुर के लिए रवाना हुए, ऐसे में वे करीब 2.30 बजे वहां पहुंचे, जबकि वहां निरीक्षण सुबह 11 बजे ही पूर्ण हो गया था। उन्होंने बताया कि अब वह तो एमसीआई अधिकारियों पर निर्भर है कि वह उन्हें उस गिनती में लेते हैं या नहीं।

—–

हमने तो समय पर सूचना दी थी हमने तो समय पर सूचना दे दी थी, वहां पहुंचने में जो देर लगती है वहीं लगी है, निरीक्षण तो सामान्य तौर पर हो गया है। डॉ लाखन पोसवाल, प्राचार्य आरएनटी

Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here