क्यों बेसिन रिजर्व की पिच बनी ‘पहेली’? जानिए मयंक अग्रवाल की जुबानी

0
323
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner
  • पहले दिन विराट ब्रिगेड का टॉप ऑर्डर हुआ फेल
  • विराट-पुजारा भी संभाल नहीं पाए, जूझ रहे रहाणे

भारतीय सलामी बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने बेसिन रिजर्व की पिच के बारे बताया है. शुक्रवार को वेलिंग्टन टेस्ट के पहले दिन के खेल के बाद उन्होंने कहा कि बेसिन रिजर्व की पेचीदा पिच पर खेलना काफी कठिन है और अपना पहला टेस्ट खेल रहे न्यूजीलैंड के काइल जेमिसन की जबर्दस्त सटीक गेंदबाजी ने भारत के बल्लेबाजों की मुश्किलें और बढ़ा दीं.

भारत ने वर्षाबाधित पहले दिन 122 रनों पर पांच विकेट गंवा दिए. मयंक अग्रवाल (34 रन) ने कहा, ‘यहां हवा काफी तेज रफ्तार से बह रही है. आपको मैदान पर सही सामंजस्य बिठाना होता है. बतौर बल्लेबाज यह आसान नहीं है, खासकर पहले दिन.’

बारिश ने धोया आखिरी सेशन का खेल, पहले दिन स्टंप्स तक भारत 122/5

सलामी बल्लेबाज मयंक ने कहा,‘एक बल्लेबाज को कभी महसूस नहीं होता कि आप जम चुके है. लंच के बाद भी मुश्किल आ रही थी.’ उन्होंने जेमिसन की तारीफ करते हुए कहा, ‘उसने शानदार गेंदबाजी की और सही दिशा में गेंद डाली. उसने नई गेंद का बखूबी इस्तेमाल किया और हमें परेशान करता रहा.’

29 साल के अग्रवाल ने कहा,‘विकेट में नमी होने के कारण भी उसे मदद मिल रही थी. बल्लेबाज को उछाल का सामना करने के लिए अतिरिक्त प्रयास करने पड़ रहे थे, जो आसान नहीं थे.’

रोहित के बिना फ्लॉप हुई ओपनिंग, वनडे के बाद अब टेस्ट में भी खुली पोल

कर्नाटक के इस बल्लेबाज ने कहा कि पिच की नमी और असमान उछाल दोनों ने बल्लेबाजों की मुश्किलें बढ़ाईं. अग्रवाल ने कहा,‘ एक ओवर में आप सभी छह गेंदों पर आक्रामक नहीं हो सकते. तीन या चार गेंद भी अच्छी पड़ गई और आपको लगता है कि आप बल्लेबाज को आउट कर सकते हैं तो आप आक्रामक हो जाते हैं.’

AajTak

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here