कोरोना वायरस को लेकर शहरों के बाद अब गांवों में भी अलर्ट, हरकत में आए अधिकारी

कोरोना वायरस को लेकर अधिकारियों ने किया चिकित्सालय का निरीक्षण

सलूम्बर. कोरोना वायरस को लेकर चिकित्सा विभाग के निर्देश पर सलूम्बर के प्रशासनिक अधिकारी हरकत में देखे गए। देर शाम उपखंड अधिकारी मणिलाल तीरगर के नेतृत्व में राजकीय सामान्य चिकित्सालय में तहसीलदार नारायणलाल जीनगर, विकास अधिकारी विशाल सीपा ने पहुंचकर ने निरीक्षण किया। खण्ड मुख्यचिकित्सा अधिकारी गजानंद गुप्ता एवं चिकित्सा अधिकारी प्रकाश श्रीमाली से कोरोना वायरस एव चिकित्सालय में डॉक्टर के रिक्त पदों की जानकारी ली।

कोरोना वायरस से निपटने के लिए स्वास्थ्य विभाग की तैयारियों पर सवाल खड़े हो गए हैं। सलूम्बर के राजकीय सामान्य अस्पताल में इसके लिए अलग से आइसोलेशन वार्ड बनाया गया है, लेकिन टेस्ट की सुविधा अस्पताल में नहीं है। इसके लिए संदिग्ध रोगी को टैस्ट सेंपल पुणे भेजने होंगे। हालांकि डॉक्टरों व पैरामैडीकल स्टाफ के लिए एन-95 मास्क व अन्य आवश्यक किट की भी व्यवस्था कर दी गई है लेकिन विभाग की ये तैयारियां नाकाफी ही लग रही है।

वायरस को लेकर अभी जागरूक नहीं लोग
लोग इस वायरस को लेकर अभी जागरूक नहीं है। यही कारण है कि सलूम्बर के राजकीय सामान्य चिकित्सालय अस्पताल में ओपीडी, पर्ची बनाने व दवाइयों के लिए लम्बी कतारों में खड़े लोग बिना मास्क के ही देखे गए। यही नहीं, वार्डों में मरीजों के पास बड़ी संख्या में तीमारदार मौजूद थे और मास्क भी नहीं पहना था।हालांकि अस्पताल प्रशासन लोगों को जागरूक कर रहा है कि मास्क पहनकर आएं लेकिन लोग इस ओर अभी ध्यान नहीं दे रहे हैं।

Patrika

Leave a Comment