कोरोना वायरस का असर, बाजार से चायनीज पिचकारियां व गुलाल गायब

0
384

holi- होली का बाजार होने लगा गुलजार, इस बार मेड इन इंडिया आयटम्स की भरमार
– स्वदेशी का बढ़ा दाम

उदयपुर. कोरोना वायरस का असर इस बार होली के त्योहार पर भी देखने को मिल रहा है। इस बार बाजार में चाइनीज पिचकारियां व गुलाल गायब हैं तो उसकी बजाय स्वदेशी आइटम्स की भरमार है। यानी मेड इन इंडिया का टैग हर जगह देखने को मिल रहा है, जबकि पिछले साल तक बाजारों और हाथों में चाइनीज पिचकारियां ही नजर आती थी। आमतौर पर भारत में होली से एक महीना पहले से ही चीनी आइटम की भरमार होने लगती थी परंतु इस बार ज्यादातर देसी पिचकारियां नजर आ रही हैं। कारोबारी बता रहे हैं कि चीन में कोरोना वायरस की मौजूदा स्थिति को देखते हुए आयात पर रोक लगी हुई है। इस कारण न माल आ रहा है और न ही नए आइटम्स आ रहे हैं।

दिल्ली व सूरत से लाए हैंं आइटम
पंचवटी क्षेत्र स्थित एक दुकान पर रंगों और पिचकारियों की बिक्री कर रहे चुन्नीलाल कुमावत ने बताया कि इस बार चाइनीज पिचकारियां और गुब्बारें नहीं आए हैं। ये कोरोना वायरस का ही असर है, जिससे व्यापार प्रभावित हुआ है। जबकि हर साल पूरा चाइनीज माल ही आता था। वे दिल्ली और सूरत से पिचकारियां व अन्य सामान लेकर आए हैं। वहीं, एक अन्य दुकानदार दर्शील दिलीप जैन ने बताया कि चाइनीज आयटम्स इस बार ना के बराबर ही हैं। वहीं, मेड इन इंडिया प्रोडक्ट्स ज्यादा हैं। लोग अब स्किन को लेकर भी काफी कॉन्शियस हो चुके हैं तो हर्बल और ऑर्गेनिक गुलाल भी बाजार में आ चुकी हैं। वहीं, रंगों से सिर व बालों को बचाने के लिए पगडिय़ां भी आई हैं जो बच्चे और बड़े दोनों ही पहन सकते हैं।

इस बार थोड़ी महंगी होगी होली

बाजार में फैंसी आइटमें भी इस बार ज्यादातर स्वदेशी ही हैं। फिलहाल होली का जो स्टॉक व्यापारी मंगवा रहे हैं, उसमें अधिकांश उत्पाद मेड इन इंडिया है। हर बार त्योहारों पर चाइनीज उत्पादों की भरमार रहती है। भारत में बने उत्पादों के दाम पहले ही चाइनीज उत्पादों के मुकाबले अधिक होते हैं। चीन से आयात रुकने पर इस बार दाम में और इजाफा हुआ है। इस बार होली लोगों की जेब पर कुछ भारी पड़ेगी। पिछले साल जो पिचकारी 35 रुपए में बिकी थी, वह इस बार करीब 50 रुपए की है। रंग और गुलाल के दामों पर कोई खास असर नहीं है।

बच्चों के लिए गन और टैंक

दुकानदारों के अनुसार, बच्चों के लिए इस बार मोटू-पतलू, डोरेमॉन, छोटा भीम, स्पाइडरमैन, मोगली, पबजी, बेनटेन, फ्रॉजन आदि कई तरह के कार्टून कै रेक्टर्स की पिचकारियां आई हैं। इसमें वॉटर गन और टैंक प्रमुख हैं। वहीं, गीला होने से परहेज करने वालों के लिए सूखे गुलाल की पिचकारी भी विशेष रूप से आई है। सभी पिचकारियां 10 रुपए से लेकर 800 रुपए तक में उपलब्ध हैं।

Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here