कोरोना पर ये संत बोले, पहले ही धर्म की मान लेते तो नहीं फैलता कोरोना

0
357

उदयपुर. मुनि पूज्य सागर महाराज के सानिध्य में आठ दिवसीय सिद्धचक्र महामंडल विधान के छठे दिन शनिवार को 512 अघ्र्य मंडल पर समर्पित किए गए। पद्मप्रभु दिगंबर जैन मंदिर पहाड़ा में मुनि पूज्य सागर ने कहा कि धर्म करने वालों को कभी मानसिक, आर्थिक कष्ट और शारीरिक रोग नहीं होते है, आज कोरोना वायरस से डर पैदा हो गया है अगर पहले ही धर्म की मान लेते तो आज यह दिन नहीं देखना पड़ता। धर्म में पहले ही कहा था कि शुद्धि के साथ भोजन करो, शाकाहारी भोजन करो पर हमने नहीं सुना और आज इस बीमारी के डर से शाकाहार और शुद्धता की बात कर रहे हैं। अब भी यदि हम धर्म के मार्ग पर नहीं चले तो पता नहीं कौनसी-कौनसी बीमारियां हमें घेर लेगी।

ये खबरें भी पढ़े….

फील्ड क्लब के चुनाव पर भी कोरोना का असर

बेटी को फंदे पर लटकाने वाला पिता जेल में लटका फांसी पर

ऐसा क्या हुआ था जो वह क्रूर बन गया, पिता को कोर्ट ने डाला आजीवन सलाखों में

Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here