कोरोना को लेकर गांवों में भी पुल‍िस ने लगाई दौड़, यात्रा कर लौटे 4 लोगों को रखा आइसोलेशन में

0
350

अहिरावण मेले पर भी संकट के बादल , धार्मिक आयोजनोंं पर प्रशासन की कड़ी नजर

कानोड़. देश भर में कोरोना वायरस का कोहराम मचा है, प्रदेश की सरकार ने 30 मार्च तक शिक्षण संस्थाएं बंद करने का फरमान सुना दिया है, ऐसे में कोरोना का डर भी बढता जा रहा है । स्थानीय प्रशासन द्वारा विदेश सहित अन्य जगहोंं से यात्रा कर लौटने वाले हर यात्रियों पर कड़ी निगरानी रखी जा रही है । ऐसे में रविवार को कानोड़ चिकित्सालय में आए यात्री की जानकारी मिलते ही पुलिस की दाैैड़ हो गई । बीमार व्यक्ति के चिकित्सालय में होने की जानकारी मिलने पर पुलिस जवान चिकित्सालय पहुंंचे लेकिन बाहर से इलाज को आए रोगी की कोई जानकारी नहीं मिल पाई । वहीं चार यात्रियों को 14 दिन के लिए अपने ही मकान में आइसाेेलेट किया गया है , जिनको केप मास्क के साथ घर में रखा गया है। वहीं किसी यात्री को बाहर निकलने की अनुमति‍ नहीं है , परिजनोंं को भी दूर रहने की सलाह दी गई है । रविवार को संंदिग्ध रोगी की तलाश में चिकित्सालय पहुंंचे पुलिसकर्मियों ने बाहर मेडिकल से मास्क लेने चाहे लेकिन नहीं मिले तो मुंंह पर कपड़ा बांधकर चिकित्सालय में रोगियों की जानकारी ली ।

थानाधिकारी श्रवण कुमार जोशी से मिली जानकारी के अनुसार दो दिन पूर्व कस्बे के बोहरा समुदाय के लोग धार्मिक यात्रा से लाैैटने की जानकारी मिलते ही उनसे सम्पर्क किया जांच के बाद कानोड़ पहुंंचे थेेे ,लेकिन उन सभी को 14 दिन के लिए आइसाेेलेट किया गया है । चिकित्सालय पर पदस्थ चिकित्साकर्मी इस तरह के बीमार पर पूूरी निगरानी रखे हुए हैंं , पुलिस की सहायता हर समय उपलब्ध होने के लिए चिकित्साकर्मियों को आश्वस्त किया है । बाहर से आने वाले यात्रियों पर पुलिस भी नजर रखे हुए है ।

मेले पर भी संकट मंडराया

कस्बे में 30 व 31 मार्च को आयोजित होने वाला हनुमान अहिरावण मेले पर भी संकट मण्डरा गए हैंं । इस बार का मेला कोरोना वायरस की भेंंट चढ़़ता दिख रहा है । रविवार को जिला कलकटर आनंदी ने निर्देश के बाद मेला स्थगित होने की जानकारी से शहर में दिन भर चर्चा बनी रहीं । कई दशकोंं से जारी मेला पहली बार नहीं होने की संभावना प्रबल हो गई है । हालांकि‍ कानोड़ अहिरावण मेले के स्थगित होने की कोई प्रशासनिक निेर्देशों की जानकारी नहीं म‍िली है ।

हर रोगी पर पूूरी निगरानी

वायरस को लेकर उच्चाधिकारियों के निर्देशन में हर रोगी पर चिकित्साकर्मी निगरानी रखे हुए है । शहर में बाहर धार्मिक यात्रा से लाैैटे चार यात्रियों को 14 दिन के लिए आइसाेेलेट किया गया है । जिनको अपने घर से आहर निकलने से रोका गया है । वहीं परिजनो को भी दूर रहने की सलाह दी है । सभी का तीन दिन से चेकअप किया जा रहा है । वायरस से निपटने के पूूरे इंतजाम किए गए हैंं। संंदिग्ध लगने पर केप मास्क के साथ उदयपुर रेफर किया जाएगा ।

डॉ. आरके सिंह, प्रभारी एवं चिकित्सा अधिकारी सामुदायिक चिकित्सालय कानोड़़

Patrika

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here