ऑनलाइन पेमेंट की आदत भी कम करेगी संक्रमण का खतरा

उदयपुर के 70 प्रतिशत युवा करते हैं मोबाइल से भुगतान, चाय की थड़ी से लेकर शॉपिंग मॉल्स तक में नकद लेन-देन घटा

उदयपुर. कोरोना वायरस के डर के बीच लेकसिटी में एक बात हर किसी के लिए सुखद और संतोषजनक है कि शहर नकद लेन-देन की बजाय ज्यादातर ऑनलाइन भुगतान को अपना चुका है। इनमें युवाओं का प्रतिशत बहुत ज्यादा है।
आर्थिक मामलों के जानकार बताते हैं कि उदयपुर में छोटे-मोटे दो से ढाई हजार रुपए तक के बिल ऑनलाइन भुगतान किए जा रहे हैं। इनमें युवाओं की तादाद करीब 70 फीसदी है। 32-35 साल तक के युवा पेटीएम, जी-पे, गूगल-पे, एयरटेल और अन्य फण्ड ट्रांसफर प्लेटफॉम्र्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। 40 साल से अधिक उम्र के लोगों में ऑनलाइन भुगतान की दिलचस्पी घटती चली जाती है। जानकार बताते हैं कि यह आदत जहां भुगतान, टैक्स गणना जैसी व्यवस्थाओं को पारदर्शिता के दायरे में ला रही है, वहीं इन दिनों कोरोना वायरस के हाहाकार के बीच कम से कम नकदी के इस्तेमाल से लोग ज्यादा सुरक्षित हैं।

जानकारों का कहना है कि चूंकि कागज के नोट और धातुओं से बने सिक्कों पर फंगस-बैक्टिरिया कई घंटों, यहां तक कि गड्डियों में रखे नोटों पर कई दिनों तक जिन्दा रहते हैं। नोट भी उतना ही ट्रेवल करते हैं, जितना कि कोई आम व्यक्ति देश-दुनिया के एक से दूसरे हिस्से में यात्रा करता है। इसलिए नकदी का इस्तेमाल कम से कम करें, उतना बेहतर होगा।
– अब मोबाइल में कैद पैसा

युवा मोबाइल में विभिन्न एप्स के जरिये भुगतान कर रहे हैं, वहीं डेबिट और क्रेडिट काड्र्स भी ई-पेमेंट का लोकप्रिय जरिया हैं। प्लास्टिक मनी का चलन तो पहले से ही है, लेकिन अब चाय-नाश्ते, कपड़े, गैजेट्स, शूज और कुछ हजार तक का भुगतान मोबाइल एप्स के जरिये करने का चलन भी रफ्तार पकड़ चुका है। दुकानदार और ग्राहक दोनों जागरूक हैं। दोनों के लिए नकदी सम्भालकर रखने का खतरा और झंझट भी नहीं है।
—-

उदयपुर में ऑनलाइन पेमेंट की जागरूकता बढ़ रही है, यह अच्छी बात है। खासकर युवा इसी पेमेंट मोड को ज्यादा तरजीह दे रहे हैं।
राकेश लोढ़ा, चार्टर्ड एकाउंटेंट

नकदी ज्यादा देर फ्रेश नहीं रहती, चूंकि वह हजारों हाथों से गुजरती है। हाथों के पसीने, जेब में रहने के कारण उनमें नमी भी होती है, जिस कारण बैक्टिरिया, वायरस लम्बे समय तक सर्वाइव कर सकते हैं।

प्रो. आरती प्रसाद, विभागाध्यक्ष, प्राणी-शास्त्र, सुविवि

Patrika

Leave a Comment