उदयपुर में यहां पैसा देकर कीचड़ से गुजरते हैं सैलानी

बागोर की हवेली में चैम्बरों से उफन रहा सिवरेज, पर्यटकों को स्वागत द्वार पर ही गुजरना पड़ता है कीचड़ से

उदयपुर. लेकसिटी में पर्यटकों के आकर्षण का एक खास केन्द्र बागोर की हवेली में सिवरेज उफनकर जमा हो रहा है। गंदगी और बदबूदार माहौल में यह बदइंतजामी विदेशी पर्यटकों के बीच शर्मिंदगी की वजह बनती जा रही है।
बागोर की हवेली में प्रतिदिन सैकड़ों घरेलू और विदेशी पर्यटक आते हैं। इन दिनों कोरोना वायरस के प्रकोप और ऑफ सीजन शुरू होने से हालांकि सैलानियों की आवक कम हुई है। पर्यटकों को मुख्यद्वार से अहाते तक कीचड़ का सामना करना पड़ता है। उन्हें गंदगी में पैर नहीं रखना पड़े, इसके लिए यहां के व्यवस्थापकों ने छोटा पटिया रखवा दिया है, जिस पर चलकर लोग ‘कीचड़ की तलैयाÓ पार कर रहे हैं।

– गटर के पानी से बदबू
हवेली के अहाते में ही सिवरेज के कुछ चैम्बर बने हुए हैं, जिनसे गंदा पानी उफन रहा है। यहां भरे काले-गंदे पानी की सतह पर सड़ा मल-मूत्र और झाग पसरे हुए हैं। गंदगी से उठती दुर्गंध के कारण सैलानी नाक-भौंह सिकोड़कर गुजर जाते हैं।

– महंगा टिकट देकर भी ये हाल
आकर्षक हवेली में खड़े रहकर वे फोटो भी खिंचवाना चाहे, तो ज्यादा देर खड़े नहीं रह पाते। सैलानी यहां टिकट का पैसा देकर ही प्रवेश कर पाते हैं। घरेलू और विदेशी पर्यटकों, बच्चों के प्रवेश, हवेली में डांस सो, फोटोग्राफी आदि के लिए 30 रुपए से लेकर 150 रुपए तक अलग-अलग टिकट शुल्क हैं।

– पत्थर की टाइलें भी उखड़ गईं
लम्बे समय से यहां चैम्बर से सिवरेज निकलने के कारण पानी फर्श पर जमा रहता है। इस कारण फर्श की सीमेंट से अलग होकर पत्थर की टाइलें भी उखड़ गई हैं। उबड़-खाबड़ अवस्था में टाइलें पड़ी हुई हैं। हवेली का स्टॉफ भी इस बात से परेशान है, लेकिन सिवरेज उफनने से रोकने के लिए जिम्मेदार नगर निगम व अन्य एजेंसियां ध्यान नहीं दे रही है।

Patrika

Leave a Comment