अब होलिका दहन के बाद होंगे मांगलिक कार्य

0
339
AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

होलाष्टक शुरू, होलिका दहन 9 मार्च को

उदयपुर . फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा के अवसर पर सोमवार को होलिका दहन होगा। इससे ठीक आठ दिन पहले फाल्गुन शुक्ल सप्तमी को होलाष्टक की शुरुआत सोमवार को हो गई। अब आठ दिन तक सभी मांगलिक, शुभ कार्य वर्जित रहेंगे। होलिका दहन के बाद पुन: आयोजनों की शुरुआत होगी।
पंडित भगवती शंकर व्यास ने बताया कि सोमवार दोपहर 12.53 बजे होलाष्टक की शुरुआत हो गई। ऐसे में आठ दिन तक मांगलिक कार्य वर्जित रहेंगे। यह समय भगवान विष्णु की आराधना के लिए विशेष माने गए हैं। होलिका दहन से भगवान के नृसिंह अवतार का उल्लेख जुड़ा है। होलिका को दारुण रात्रि कहा गया है, जो विष्णु आराधना के लिए अहम है। इस दौरान भक्ति आराधना की जाती है। फाल्गुन शुक्ल पूर्णिमा के दिन 9 मार्च सोमवार को होलिका दहन होगा और प्रतिपदा को धुलंडी पर्व मनाया जाएगा।

मंदिरों में होंगे फागोत्सव

कई जगहों पर फाल्गुन शुक्ल अष्टमी मंगलवार से होलाष्टक माना जाएगा। शहर के प्रमुख कृष्ण मंदिरों में फागोत्सव की धूम होगी। जगदीश मंदिर, श्रीनाथजी मंदिर, अस्थल मंदिर, बाईजी राज कुण्ड पर फागोत्सव में श्रद्धालुओं की भीड़ रहेगी। जगदीश मंदिर में रसिया गायन के साथ अबीर-गुलाब उड़ाकर फागोत्सव मनाया जाएगा। मंदिरों में फागोत्सव की धूम होली के बाद रंग पंचमी तक रहेगा।




holika dahan

Patrika

AdvertisementAmazon Great Indian Sale Banner

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here