मोदी के इज़राइल जाने के क्या है मायने, क्या होगा मुस्लिम देशों का रिएक्‌शन

5605

इज़राइल का नाम सुनते ही कट्टरपंथी मुस्लिमों की साँसें ऊपर नीचे होना शुरू हो जाती है हो भी क्यू ना आखिर एक करोड़ की आबादी भी ना होते हुए भी दुनिया के डेढ़ अरब मुस्लिमों को टक्कर देने की ताकत जो रखता है इज़राइल!

 

यहूदी समुदाय का एक मात्र देश जिसने भारत से कम आतंकवाद को नही झेला लेकिन एक बार नो टॉलरेन्स की नीति अपना ली तो फ़िर आतंकवादियों की खैर नही.

 

अब जबकि पाकिस्तान के साथ आतंकवाद की लड़ाई जोरों पर है ऐसे में मोदी का इज़राइल जाना बहुत बड़ा संदेश देता है.

मोदी का इज़राइल जाना निश्चित रूप से चीन पाक जैसे देश को अपनी राजनीति बदलने पर मजबूर कर देगा।

 

यह भी पढ़ें :इसलिए इस मुसलमान ने अपनाया हिंदू धर्म, आप भी कहेंगे वाह

 

अगर प्रधानमंत्री मोदी इजरायल की यात्रा पर जाते हैं, तो ये किसी भारतीय प्रधानमंत्री की यह पहली इजरायल यात्रा होगी।

 

दशकों तक भारत के अरब देशों के साथ करीबी संबंध थे, तो उसने इजरायल को नजरअंदाज किया था। जानकार मानते हैं कि मोदी की यात्रा से विदेश नीति में नए दौर का संदेश जाएगा।

 

पूरी खबर पढ़ने के लिए NEXT बटन पर क्लिक करें

1 of 2

loading...