नोटबंदी के फैसले के बाद मोदी सरकार बेनामी संपत्ति पर गाज गिराने की तैयारी मे

देशहित के लिये, जनहित के लिये, जो भी करना पडे, ये हमारी प्राथमिकता है

2576

प्रधानमंत्री ने कहा, मैंने पहले ही दिन कहा था, 8 तारीख को (नोटबंदी की घोषणा के दिन) कहा था, ये लडाई असामान्य है। 70 साल से बेईमानी और भ्रष्टाचार के काले कारोबार में कैसी शक्तियां जुडी हुई है? उनकी ताकत कितनी है? ऐसे लोगों से मैंने जब मुकाबला करना ठान लिया है तो वे भी तो सरकार को पराजित करने के लिए रोज नये तरीके अपनाते हैं।

प्रधानमंत्री ने कहा कि आपको मालूम होगा हमारे देश में बेनामी संपत्ति का एक कानून है। उन्नीस सौ अठास्सी में बना था, लेकिन कभी भी न उसके नियम बनें, उसको अधिसूचित नहीं किया। ऐसे ही वो ठंडे बस्ते में पडा रहा

आगे पढ़े पूरी खबर 

2 of 3

loading...