पर्रिकर का ये फैसला भारतीय सेना को देगा मजबूती !

इस खास वाहन को आर्मर्ड पर्सनल कैरियर्स यानि एपीसी कहा जाता है। एक एपीसी में हथियारों से पूरी तरह लैस 10 जवान होते हैं। फिलहाल भारतीय सेना के पास 1800 से अधिक एपीसी हैं।

भारत सरकार की इस योजना पर लगभग 1300 करोड़ रुपए खर्च होंगे, इस सूट की डिजाईन की जिम्मेदारी राष्ट्रीय रक्षा अनुसन्धान केंद्र यानि डीआरडीओ और तैयार करने का जिम्मा भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड यानि बीइएल के पास है।