जानिये हिजड़े शादी क्यूँ करते हैं और किसके साथ करते हैं; ये रहस्य बहुत पुराना है

जब हमारे यंहा शादिया त्यौहार या मांगलिक कार्य होते है तो हिंजड़े चले आते है अपनी बक्शीश लेने के लिए, पर क्या आपने सुना है की हिंजड़े भी त्यौहार मनाते है और शादी भी करते है

जब हमारे यंहा शादिया त्यौहार या मांगलिक कार्य होते है तो हिंजड़े चले आते है अपनी बक्शीश लेने के लिए, पर क्या आपने सुना है की हिंजड़े भी त्यौहार मनाते है और शादी भी करते है फिर भले ही ये शादी महज एक दिन की हो l तमिलनाडु के कई हिस्सों में ऐसा त्यौहार मनाया जाता है भारत भर से पहुंचे थे तीसरी योनि के मनुष्य l

12

हर साल तमिल नव वर्ष की पहली पूर्णिमा (फुल मून) को 18 दिनों तक चलने वाले उत्सव की शुरुआत होती है। इस उत्सव में पुरे भारत वर्ष और आस पास के देशों से किन्नर इकठ्ठा होते है। पहले 16 दिन मधुर गीतों पर खूब नाच गाना होता है। किन्नर गोल घेरे बनाकर नाचते गाते है, बीच बीच में ताली बजाते है । और हंसी खुशी शादी की तैयारी करते हैं। चारों तरफ घंटियों की आवाज, उत्साही लोगों की आवाजें गूंज रही होती हैं । चारों तरफ के वातावरण को कपूर और चमेली के फूलों की खूशबू महकाती है ।

क्या आप जानते हैं किन्नर शादी किस से करते हैं ? अगला पेज पढ़ें