भगवान शिव का सबसे पहले शिवलिंग से उठेगा रहस्य !

भगवान शिव अपने आप में पूरे ब्रह्माण्ड हैं l इस सृष्टि के आदि और अंत कहे जानेवाले भगवान शिव की पूजा हर कोई शिवलिंग के रुप में करता है। कहते हैं कि भगवान शिव शिवलिंग में साक्षात रुप से विराजमान रहते हैं और अपने भक्तों की हर मनोकामना पूरी करते हैं।

dfer
अगर आप भगवान शिव के भक्त हैं और उनकी पूजा करते हैं तो आपके लिए ये जानना जरूरी है कि आखिर सबसे पहला शिवलिंग कहां और कैसे स्थापित हुआ था। तो चलिए शिवलिंग के स्थापित होने से लेकर उसे पूजने की परंपरा की शुरूआत की कहानी के बारे में विस्तार से जानते हैं। सबसे पहला शिवलिंग की स्थापना को लेकर लिंगमहापुराण में एक जिक्र मिलता है। इसके अनुसार एक बार भगवान ब्रह्मा और विष्णु के बीच अपनी-अपनी श्रेष्ठता को लेकर विवाद हो गया।

अगले पेज पर पढ़े पूरी जानकारी